Seminar-cum-Kisan mela

गोष्ठी सह किसान मेला

भा.कृ.अनु.प.-के.उ.बा.सं., लखनऊ के प्रधान वैज्ञानिक एवं पी.आई., पी.एफ.डी.सी., डा. वी.के. सिंह ने दिनांक 16.01.2019 को इजराइल के सहयोग से स्थापित हुई सेन्टर ऑफ एक्सीलेन्स फॉर वेजीटेबल, उमर्दा, कन्नौज, उत्तर प्रदेश द्वारा आयोजित दो दिवसीय गोष्ठी सह किसान मेला में "विभिन्न सब्जियों की फसलों की संरक्षित खेती" पर व्याख्यान दिया। इस गोष्ठी में लगभग 70 किसानों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य किसानो को इजराइली विधि द्वारा मृदाविहीन पॉलीहाउस स्थिति में गैर-मौसमी रोग मुक्त सब्जियों की फसलों की उत्पादन के लिए प्रशिक्षित करना था। किसानो के लिए इजराइली विधि द्वारा तैयार उन्नत किस्म के अनिषेकफालित खीरा, कद्दू, करेला, तरबूज, खरबूज आदि का प्रदर्शन किया गया। गोष्ठी में सम्मलित किसानो ने इजराइली विधि को अपनाने में बहुत रूचि दिखाई और उससे सम्बंधित जानकारियों को विशेषज्ञो से ग्रहण किया।

Centre of Excellence for Vegetable, Umarda, Kannauj, established in collaboration with Israel, organized two day Seminar-cum-Kisan mela on 16.01.2019. Principal Scientist and PI, PFDC Dr. V.K. Singh, visited and gave a lecture on "protected cultivation of different vegetable crops" in aforesaid gosthi. More than 70 farmers were attended the programme. The main objective of this programme was to trained the farmers to produce non-seasonal disease-free vegetable crops in soil-less polyhouse condition through Israeli technology. The farmers were benefitted with showcase of advanced varieties of parthenocropic cucumbers, pumpkin, bitter gourd, watermelon, musk melon etc., ready through adoption of Israeli technology. The farmers showed great interest and took the relevant information from us to adopting this technology.